Admission Enquiry

+91-9559970002/03 || iassaraswati@gmail.com

सफलता की रणनीति

(Strategy of Success)

UPSC एवं PCS के नये पाठ्यक्रम से स्पष्ट है की सिविल सर्विसेज परीक्षा में प्रारम्भिक (Prelims) ,मुख्य परीक्षा (Main exam) तथा साक्षात्कार (Interview) की प्रकृति अलग़ है | प्रारम्भिक परीक्षा जहाँ ज्ञान का परीक्षण (Test of Knowledge) है वही मुख्य परीक्षा में ज्ञान के साथ लेखन एवं अभिव्यक्ति की क्षमता देखी जाती है | साक्षात्कार में अभ्यर्थी के व्यक्तित्व (Personality) का मूल्यांकन होता है | नये पाठ्यक्रम में प्रारंभिक एवं मुख्य परीक्षा की प्रणाली अलग है किन्तु विषयवस्तु काफी हद तक सामान है | सामान्य अध्ययन का क्षेत्र काफी विस्तृत होने के कारण पुरे वर्ष सतत अध्ययन करना लाभदायी होगा | प्रारंभिक परीक्षा में गत वर्षो से अनेक ऐसे प्रश्न पूछे जा रहे है जो तथ्यात्मक की अवधारणात्मक अधिक होते है |जाहिर है ऐसे में उत्तर के साथ तथ्यों को रटने की बजाय उन्हें समग्रता से कालानुसार समझाना आवश्यक है |

दूसरी तरफ CSAT प्रश्नपत्र में सतत अभ्यास और और उचित मार्गदर्शन द्वारा अच्छे अंक अर्जित किये जा सकते है | मुख्या परीक्षा में ज्ञात तथ्यों के आधार पर उत्तर लिखना पर्याप्त नहीं होता है बल्कि दी गयी शब्द सिमा के अंदर स्पष्ट और प्रभावशाली ढंग से तथ्यों के साथ उत्तर लेखन हे अच्छे अंक दिलाता है |

निबंध(Essay)

सिविल सर्विसेज एवं PCS की मुख्या परीक्षा में प्रथम प्रश्नपत्र निबंध होता है जिसके क्रमशः 250 एवं 150 अंक निर्धारित होते है | सिविल सर्विसेज परीक्षा में कूल 8 टॉपिक में से किसी दो पर 1000 से 1200 शब्दों में निबंध लिखना होता है जिसके लिए समय मिलता है 3 घंटे | PCS परीक्षा में 3 घंटे में तीन निबंध लिखने होते है जिनकी अधिकतम शब्द सीमा 700 (प्रत्येक) निर्धारित होती है | स्पष्ट है की इस तरह के निबंध लेखन के लिए सतत अभ्यास व सही रणनीति की आवश्यकता होती है |अच्छा निबंध लेखन प्रस्तुत कर मुख्य परीक्षा के अंको में शानदार वृद्धि की जा सकती है |

साक्षात्कार (Interview)

सिविल सर्विसेज परीक्षा में नए पैटर्न में साक्षात्कार के लिए 275 अंक निर्धारित किये गये है जो कुल लगभग 15 प्रतिशत है | PCS परीक्षा में साक्षात्कार हेतु अधिकतम 100 अंक निर्धारित किये गये है | सिविल सर्विसेज परीक्षा के परिणाम से ज्ञात होता है की इसमें प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले गौरव अग्रवाल के साक्षात्कार में 206 अंक तथा दितीय स्थान प्राप्त करने वाले मुनीश शर्मा ने साक्षात्कार में 204 अंक प्राप्त किये| इसे देखते हुए निश्चित रूप से कहा जा सकता है की साक्षत्कार के अच्छे अंक ने इन्हे परीक्षा में प्रथम एवं दितीय स्थान दिलाने में अहम भूमिका अदा की | सिविल सर्विसेज साक्षात्कार बोर्ड में सामान्यतः अध्यक्ष (Chairman ) सहित छः सदस्य होते है |

परीक्षा का यह अंतिम चरण ज्ञान की बजाय अभ्यर्थी के व्यक्तित्व की जांच अधिक करता है | साक्षात्कार प्रायः 20 से 40 मिंट तक चलता है | इसमें अभ्यर्थियों से उनके क्षेत्र , अभिरुचि तथा समसामयिक महत्वपूर्ण घटनाओ से सम्बंधित प्रश्न पूछे जाते है | सामान्यतः साक्षात्कार बोर्ड का अभ्यर्थी के प्रति सहयोगात्मक रुख होता है